Hasya Kavi Sammelan / Ara

Bihar Utsav और Holi के संयुक्त उपलक्ष्य में Bihiya के Inter College में 21 march की शाम Akhil Bhartiya Hasya Kavi Sammelan का आयोजन किया गया। लगभग 2500 श्रोताओं ने रात दो बजे तक कविताओं का लुत्फ़ उठाया। Charanjeet Charan की Saraswati vandana और Bihar Vandana से प्रारंभ हुआ Kavi Sammelan ठहाकों और उल्लास के नाम रहा। Shambhu Shikhar ने अपने अंदाज़ से श्रोताओं के गुदगुदाया तो Sachin Agrawal ने अपने तीखे अशआर से कार्यक्रम में नया रंग भरा।Vineet Pandey) ने हल्की-फुल्की ठिठोली से कार्यक्रम को ऊँचाइयाँ प्रदान कीं तो Chirag Jain ने बाज़ारवादी मानसिकता पर हँसते-हँसते प्रहार किया। Vyanjana Shukla ने शृंगार के रंग बिखेरे तो Pawan Srivastava ने अपनी भोजपुरी ग़ज़लियात से कार्यक्रम को स्थानीय रंग में रंगा। Chirag jain के संचालन में कार्यक्रम ने सफलता की देहरी को छुआ।