Hasya Kavi Sammelan / Ara

बिहार उत्सव और होली के संयुक्त उपलक्ष्य में बिहिया के इंटर कॉलेज में 21 मार्च की शाम अखिल भारतीय हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। लगभग 2500 श्रोताओं ने रात दो बजे तक कविताओं का लुत्फ़ उठाया। चरणजीत चरण (फ़रीदाबाद) की सरस्वती वंदना और बिहार वंदना से प्रारंभ हुआ कवि-सम्मेलन ठहाकों और उल्लास के नाम रहा। शंभू शिखर (दिल्ली) ने अपने अंदाज़ से श्रोताओं के गुदगुदाया तो सचिन अग्रवाल (अलीगढ़) ने अपने तीखे अशआर से कार्यक्रम में नया रंग भरा। विनीत पाण्डेय (बोकारो) ने हल्की-फुल्की ठिठोली से कार्यक्रम को ऊँचाइयाँ प्रदान कीं तो चिराग़ जैन (दिल्ली) ने बाज़ारवादी मानसिकता पर हँसते-हँसते प्रहार किया। व्यंजना शुक्ला (लखनऊ) ने शृंगार के रंग बिखेरे तो पवन श्रीवास्तव (आरा) ने अपनी भोजपुरी ग़ज़लियात से कार्यक्रम को स्थानीय रंग में रंगा। चिराग़ जैन के संचालन में कार्यक्रम ने सफलता की देहरी को छुआ।