Tag Archives: Hindi Poets

Suraj : Khushbu Sharma

सूरज : ख़ुशबू शर्मा ढल गया दे के रोशनी सूरज कह गया बात इक नई सूरज एक्टिंग डूबने की करता है डूबता तो नहीं कभी सूरज शाम होते ही छोड़ जाता है रोज़ ऑंखों में कुछ नमी सूरज रात गुज़री … Continue reading

Tagged , |